Download:
Loading...
नवजोत सिंह सिद्धू का फरमान- क्रिसमस पर बवाल मचाने वालों की आंख निकाल लेंगे  from News Air Service

नवजोत सिंह सिद्धू का फरमान- क्रिसमस पर बवाल मचाने वालों की आंख निकाल लेंगे from News Air Service

Duration:
Year: 2018
Post: Admin
Category:
0 seconds 720 Welcome to news air. Service नवजोत सिंह सिद्धू का फरमान- क्रिसमस पर बवाल मचाने वालों की आंख निकाल लेंगेचंडीगढ़। पंजाब सरकार में कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने क्रिसमस में गड़बड़ी फैलाने वालों के खिलाफ बड़ा बयान दिया है। सिद्धू ने क्रिसमस डे पर विवाद करने वालों को गुरुवार को धमकी देते हुए कहा कि पंजाब में क्रिसमस पर किसी ने बवाल किया तो उनकी आंख निकाल ली जाएगी। आपको बता दें कि इससे पहले यूपी में कुछ हिंदूवादी संगठनों ने क्रिसमस का विरोध किया था। जिसके बाद क्रिसमस पर सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े हो गए थे।आपको कोई नीचे गिराता है तो हम उसकी आंख निकाल लेंगेइंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक अमृतसर में राज्य सरकार द्वारा एक क्रिसमस पर आयोजन किए गया था। ईसाई समुदाय को संबोधित करते हुए सिद्धू ने कहा 'अगर आपको कोई नीचे गिराता है तो हम उसकी आंख निकाल लेंगे।' पिछले साल भाजपा छोड़ कांग्रेस में आए सिद्धू ने कहा पंजाब में किसी को भी किसी भी त्योहार में खलल डालने की इजाजत नहीं दी जाएगी।कुछ लोगों क्रिसमस को मुद्दा बना रहे हैंजालंधर स्थित रोमन कैथोलिक चर्च का नेतृत्व करने वाले बिशप फ्रांको, देश के कई हिस्सो में ईसाइयों को क्रिसमस मनाने की इजाजत नहीं दी रही है। यह हमारे बुनियादी मानवाधिकारों का उल्लंघन है। प्रत्येक व्यक्ति को अपना त्योहार मनाने की इजाजत मिलनी चाहिए। यह जानकर बहुत ही आश्चर्य होता है कि कुछ लोगों क्रिसमस को मुद्दा बना रहे हैं। लेकिन मैं बहुत संतुष्ट हूं कि पंजाब में ईसाइयों को क्रिसमस मनाने की पूरी छूट मिली हुई है। राज्य में इस प्रकार की कोई परेशानी नहीं है।'धार्मिक स्वतंत्रता का अधिकार भारतीय संविधान का हिस्सा हैलोगों को संबोधित करते हुए नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि, पंजाब में सभी समुदाय शांतिपूर्ण तरीके से रहते हैं और हर व्यक्ति को किसी भी धर्म का प्रचार और उसे मानने का पूरा हक है। धार्मिक स्वतंत्रता का अधिकार भारतीय संविधान का हिस्सा है। हम सभी भाई है और आपके अधिकारो की रक्षा करना हमारा कर्तव्य है। मेरी सरकार ने वादा किया है कि प्रत्येक समुदाय को उनके धार्मिक त्योहार मनाने के लिए उन्हें स्वतंत्र और निष्पक्ष वातावरण दिया जाएगा। सिद्धू ने कहा कि प्रत्येक धर्म के लोगों के लिए स्वर्ण मंदिर के दरवाजे खुले हैं। देश के संविधान में भी जाति, पंथ, जाति या धर्म के आधार पर कोई अंतर नहीं है, वह सभी के लिए समान अवसर की गारंटी देता है। पंजाब में सभी धर्म के लोग पूर्ण सामंजस्य के साथ रहते हैं। हम वादा करते हैं कि राज्य सरकार किसी को भी शांतिपूर्ण माहौल को खराब करने नहीं देगी।subscribe us for news & updates http://www.youtube.com/c/NewsAirService facebook page http://www.facebook.com/newsairserviceblogger http://www.blogger.com Comments:
Random Videos:
Categories: